भारत की जलवायु

Site Administrator

Editorial Team

26 Aug, 2016

7407 Times Read.

भारत का भूगोल, सामान्य ज्ञान,


RSS Feeds RSS Feed for this Article



Climate-of-India-2016

1) जलवायु (Climate) शब्द से क्या तात्पर्य होता है? – एक विशाल क्षेत्र में लम्बी समयावधि में मौसम की अवस्थाओं तथा विविधताओं का कुल योग ही जलवायु है (अर्थात जलवायु में परिवर्तन बहुत लम्बी समयावधि में ही घटित होते हैं जैसे वर्तमान में पृथ्वी के तमाम स्थानों पर ग्लोबल वार्मिंग की स्थिति विद्यमान है जो कई वर्षों में घटित कारणों के चलते उजागर हुई है)

………………………………………………….

2) मौसम (Weather) क्या है? – एक विशेष समय में एक क्षेत्र के वायुमण्डल की अवस्था मौसम होती है (मौसम की अवस्था एक ही दिन में कई बार बदल सकती है)

………………………………………………….

3) जलवायु (Climate) तथा मौसम (Weather) दोनों को प्रभावित करने वाले प्रमुख तत्व कौन से हैं? – तापमान (Temperature), वायुमण्डलीय दाब (Atmoshpheric pressure), पवन (Wind), आर्द्रता (Humidity) तथा वर्षण (Precipitation)

………………………………………………….

4) भारत की जलवायु की व्याख्या के लिए कौन सा एक विशिष्ट शब्द प्राय: प्रयुक्त किया जाता है? – मानसून – Monsoon (भारत को मानसून-आधारित जलवायु वाला देश बताया जाता है)

………………………………………………….

5) “मानसून” (Monsoon) शब्द किस भाषा से उत्पन्न हुआ है? – अरबी (“मानसून” शब्द अरबी शब्द “मौसिम” (‘Mausim’) से उत्पन्न हुआ है)

………………………………………………….

6) “मानसून” नामक प्रक्रिया में क्या होता है? – मानसून नामक प्रक्रिया में एक वर्ष के दौरान वायु की दिशा में ऋतु के अनुसार परिवर्तन होता है (सर्दियों में वायु स्थल से समुद्र की ओर तथा गर्मियों में वायु समुद्र से स्थल की ओर बहती है)

………………………………………………….

7) वे पहले व्यक्ति कौन थे जिन्होंने मानसून प्रणाली में पवन के उल्टी दिशा से बहने की परिघटना पर ध्यान दिया था? – ऐतिहासिक काल में भारत आने वाले विदेशी नाविक (पुराने युग में भारत आने वाले विदेशी नाविकों ने पवन तंत्र की दिशा उलट जाने की घटना पर ध्यान दिया था जिसके कारण उन्हें लाभ होता था। ऐसा इसलिए था क्योंकि उनके जहाज पवन के प्रवाह की दिशा पर निर्भर थे। भारत में व्यापारी बनकर आने वाले अरब नाविकों ने ही प्रणाली को “मानसून” नाम दिया था)

………………………………………………….

8) वे कौन से 6 तत्व हैं जो किसी स्थान की जलवायु को प्रभावित करते हैं? – अक्षांश (latitude), ऊँचाई या तुंगता (Altitude), वायु दाब एवं पवन तंत्र (Pressure and Winds), समुद्र से दूरी (Distance from the Sea), महासागरीय धाराएं (The State of Ocean Currents) तथा उच्चावच लक्षण (Relief Features)

………………………………………………….

9) भारत की जलवायु को किस वृहद श्रेणी में रखा जा सकता है? – उष्णकटिबंधीय (Tropical) अथवा उप-उष्णकटिबंधीय (Sub-tropical)

………………………………………………….

10) भारत की समग्र जलवायु से सम्बन्धित एक प्रमुख तथ्य क्या है? – यहाँ की जलवायु में अपार विविधता (incredible variety) है (यहाँ उष्णकटिबंधीय क्षेत्रों की प्रमुखता है लेकिन इसके बावजूद यहाँ वर्षा वन से लेकर, सूखे रेगिस्तान, ठण्डे रेगिस्तान, टुण्ड्रा समान क्षेत्र, घास के मैदानों, पठारों तक सब कुछ मौजूद है)

………………………………………………….

 

Responses on This Article

© NIRDESHAK. ALL RIGHTS RESERVED.